गुरुवार, 16 जुलाई 2020
स्वास्थ्य की निगरानी के लिए खरीदी गई स्मार्टवॉच भी समस्या पैदा कर सकती हैं। हाल ही में सुरक्षा शोधकर्ताओं ने बताया कि बुजुर्ग मरीजों की मदद के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्मार्टवाच का सॉफ्टवेयर आसानी से हैक किया जा सकता है और इसका दुरुपयोग किया जा सकता है।
इसमें डिमेंशिया के मरीजों की घड़ियों को निशाना बनाया जा रहा है। इसमें हैकर मरीज को जब चाहे दवा लेने के लिए रिमाइंडर भेज सकता है। शोधकर्ताओं ने चिंता व्यक्त की कि यह अधिक मात्रा का कारण हो सकता है और रोगी की स्थिति को खराब कर सकता है। हालांकि, चीनी कंपनी को सूचित करने के बाद, उन्होंने इस दोष को ठीक किया।

ब्रिटेन की सुरक्षा फर्म पेन टेस्ट पार्टनर्स ने दोष का पता लगाया
हालांकि, इस तरह की स्मार्ट वॉच से जुड़ने वाले ऐप के 10 मिलियन (यानी 1 करोड़) से ज्यादा डाउनलोड हैं। शोधकर्ताओं का कहना है कि यह पता करने का कोई तरीका नहीं है कि क्या इस दोष का उपयोग किसी और के द्वारा सुधारने से पहले किया गया था। ब्रिटेन स्थित सुरक्षा फर्म पेन टेस्ट पार्टनर्स ने दोष का पता लगाया।

स्मार्ट वॉच मरीज के लिए उपयोगी है


मनोभ्रंश के रोगियों के लिए डिज़ाइन की गई स्मार्टवॉच मददगार साबित हो सकती हैं। उदाहरण के लिए, यदि मरीज टहलने के दौरान कहीं खो जाता है, तो ऐसी स्थिति में यह देखभाल करने वाले व्यक्ति को बुलाएगा, जो उसके स्थान को ट्रैक कर सकता है।


टेक दवा अधिसूचना एक देखभालकर्ता को रिमाइंडर को दूरस्थ रूप से भेजने की अनुमति देती है। शोधकर्ताओं का कहना है कि यह वह जगह है जहां गलती हुई। एक व्यक्ति जो एक बुनियादी हैकिंग कौशल जानता है, वह जितनी बार चाहे उतनी बार ड्रग अलर्ट को ट्रिगर कर सकता है। जबकि मनोभ्रंश से पीड़ित व्यक्ति याद नहीं रख सकता है कि उन्होंने पहले दवा ली है या नहीं।


0 टिप्पणियाँ: